Atal Jyoti Yojana 2022 । अटल ज्योति योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

बिजली की समस्या के निवारण के लिए Atal Jyoti Yojana की घोषणा नवंबर 2014 में श्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हुई थी। योजना को सफल बनाने की जिम्मेदारी केन्द्र सरकार की नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मिनिस्ट्री की है जो पूरी निष्ठा से इस कार्य में संलग्नित रही है।
केन्द्र सरकार की Ministry of New and Renewable Energy (MNRE) पूरे देश में नवीन तथा नवीकरणीय ऊर्जा का संचार तथा विस्तार करती है। इस मंत्रालय ने देश में सौर स्ट्रीट लाइट की स्थापना के माध्यम से अधेंरे क्षेत्रों को बिजली देने के लिए अटल ज्योति योजना आरम्भ की है।

Atal Jyoti Yojana in hindi

योजना का नाम Atal Jyoti Yojana
किसने शुरू की पावर मिनिस्ट्री तथा मिनिस्ट्री ओफ न्यू एवं रिन्यूएबल एनर्जी ने
द्वारा प्रायोजित प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा
Launch date पहला फेज 2018 में दूसरा फेज 2019 में
लाभार्थी देश के तमाम राज्यों, जिलों और गावों के नागरिक।
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
वेबसाइट https:/eeslindia.org

अटल ज्योति योजना – AJAY

हमारे देश में बिजली की समस्या आजादी के 7 दशक बाद भी चल रही थी। इसके तुरंत निवारण के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की केंद्र सरकार ने राज्यों, जिलों और कस्बों के कम बिजली वाले सार्वजनिक स्थानों पर सौर ऊर्जा लगवाने की अटल ज्योति योजना बनाई।

अटल ज्योति योजना सरकार की आफ-ग्रिड और विकेन्द्रीकृत सौर अनुप्रयोग योजना (Grid and Decentralized Solar Application Scheme) के अन्तर्गत एक उप-योजना है। इस योजना का दूसरा नाम अजय है। अजय योजना Energy Efficiency Services Limited जो Ministry of Power,New and Renewable Energy द्वारा चलाई जा ही है।

  • EESL चार पब्लिक सेक्टर power companies का joint venture है।
  • ये कम्पनीज़ हैं – एनटीपीसी Ltd., PFC Ltd., REC Ltd., Power Grid corporation

अटल ज्योति योजना के उद्देश्य

अटल ज्योति योजना के तहत ग्रामीण, अर्ध- शहरी और शहरी क्षेत्रों में जहाँ बिजली उपलब्ध नहीं है या बिजली की पर्याप्त आपूर्ति नही है वहां सौर एल ई डी लाइट्स लगाई जाती हैं। इस योजना का मुख्य उद्देश्य बिजली की समस्या से उभरने के लिए राज्यों, जिलों एवं गावों में सौर उर्जा स्ट्रीट लाइट्स सार्वजनिक जगहों पर लगाकर नागरिकों की मदद करना है।

अटल ज्योति योजना की फन्डिगं

फेज 2 का टोटल बजट 761 करोड़ का है। योजना के अनुसार 75% धनराशि केंद्र सरकार वहन करेगी MNRE बजट से और 25% राशि सांसद निधि (MPLAD) से लगाने का प्रावधान है। चिन्हित राज्यों में MNRE मानदंडों के अनुसार 12W की LED क्षमता वाली प्रति लाइट की लागत 25,000 रूपये पडती है।

Read also : अटल पेंशन योजना

अटल ज्योति योजना से सौर ऊर्जा के उपयोग के लाभ

  • सौर ऊर्जा प्रदूषण मुक्त होती है।
  • यह किसी अन्य ऊर्जा के स्त्रोत पर निर्भर नहीं करती।
  • इसका रखरखाव ना के बराबर है।
  • अन्य ऊर्जा स्त्रोत की तुलना में सुरक्षित है।
  • यह नवीकरणीय ऊर्जा है। यह हमेशा उपलब्ध रहती है।
  • बिजली का बिल नहीं आता।

अटल ज्योति योजना में आवेदन कैसे करे ?

Atal Jyoti Yojana Registration Online

EESL सरकारी पावर कम्पनीज के जोइन्ट वैन्चर से सुपर एनर्जी सर्विस कम्पनी बनाई गई है जो उपभोक्ताओं, उद्योगों और सरकारों के लिए ऊर्जा दक्ष तकनीक द्वारा उनकी ऊर्जा जरूरतों का प्रभावपूर्ण प्रबंध करती है।

Energy Efficiency Services Limited अपनी वेबसाइट पर चैनल पार्टनर रजिस्ट्रेशन करती है। अप्रैल 2022- मई 2022 के लिए रजिस्ट्रेशन ओपन है। उनकी वेबसाइट ajay.eeslindia.org

अटल ज्योति योजना से गावों, कस्बों एवं शहरों को रौशन किया जा रहा है। बिजली की समस्या से परेशान लोग सरकार से आशा करते हैं कि वह तुरंत कोइ समाधान करेगी और उनको राहत देगी। सार्वजनिक स्थानों में बिजली की कमी को पूरा करने के लिए सरकार की New and Renewable Energy Dept. ने सौर ऊर्जा वाली एल ई डी लाइट्स का उपाय सोचा।

अटल ज्योति योजना में शिकायत कैसे दर्ज करें ?

जिन राज्यों में सौर्य एल ई डी लाइट्स लगाई गई हैं वहां के लोगों की लाइट्स को लेकर समस्याएं हो सकती हैं। अतः उनको अपनी प्रतिक्रिया या शिकायत दर्ज कराने की सहुलियत दी गई है।

  • EESL की अफिशल वेबसाइट ajay.eeslindia.org/complain.php पर जाना होगा।
  • वेबसाइट में अटल ज्योति डैशबोर्ड पर क्लिक करें।
  • सबसे ऊपर दो बौक्स दिखेंगे। Official login  और  Register your complaints
  • रजिस्टर योर कम्लेन्ट पर क्लिक करके अपनी समस्या का ब्यौरा दें।
अटल ज्योति योजना क्या है?

EESL, अटल ज्योति योजना (अजय) को लागू कर रहा है,जो नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की ऑफ ग्रिड और विकेंद्रीकृत सौर अनुप्रयोग योजना के तहत की एक उप-योजना है। ‘अजय’ के तहत, ग्रामीण, अर्ध-शहरी और शहरी क्षेत्रों में सौर एलईडी लाइट्स लगाई जा रही हैं, जहां बिजली की पर्याप्त आपूर्ति नहीं है।

अटल ज्योति योजना कब शुरू हुई?

बिजली की समस्या के निवारण के लिए Atal Jyoti Yojana की घोषणा नवंबर 2014 में श्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हुई थी। योजना को सफल बनाने की जिम्मेदारी केन्द्र सरकार की नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मिनिस्ट्री की है जो पूरी निष्ठा से इस कार्य में संलग्नित रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!